समाचार विस्तार से | एसजेवीएन लिमिटेड
समाचार

एसजेवीएन ने वित्‍तीय वर्ष 2017-18 के लिए 864.56 करोड़ रुपए का कुल लाभांश अदा किया तथा भारत सरकार को 50.13 करोड़ रुपए का अंति‍म लाभांश चेक भेंट किया गया

अक्तूबर 16, 2018

SHIMLA : October 16, 2018

विद्युत मंत्रालय के अंतर्गत एक मिनी रत्‍न एवं शेड्यूल '' सीपीएसयू के रूप में स्‍थापित एसजेवीएन लिमिटेड ने वर्ष 2017-18 के वित्‍तीय निष्‍पादन के आधार पर इसके शेयरधारकों को 864.56 करोड़ रुपए का कुल लाभांश अदा किया है I   कंपनी ने मार्च 2018 में 63.79% इक्विटी धारक भारत सरकार को 504.76 करोड़ रुपये का अंतरिम लाभांश चेक पहले ही अदा किया है।

एसजेवीएन लिमिटेड के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, श्री नन्‍द लाल शर्मा  द्वारा नई दिल्‍ली में माननीय केन्‍द्रीय विद्युत एवं नई तथा नवीकरणीय ऊर्जा राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार), श्री आर.के सिंह को 50.13 करोड़ रुपए का अंतिम लाभांश चेक भेंट किया गया I  लाभांश चेक श्री ए.के.भल्‍ला,  सचिव (विद्युत), संयुक्‍त सचिव (हाइड्रो), श्री अनिरुद्ध कुमार, उप सचिव (हाईड्रो-II), श्री विशाल पाल सिंह तथा विद्युत मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारियों की उपस्थिति में भेंट किया गया I  इस अवसर पर श्री ए.एस.बिन्‍द्रा, निदेशक(वित्‍त),  श्री आर.के.बंसल, निदेशक (विद्युत), श्री कंवर सिंह, निदेशक(सिविल) तथा एसजेवीएन के वरिष्‍ठ अधिकारी भी उपस्थित रहे I

माननीय केन्‍द्रीय विद्युत तथा नवीकरणीय ऊर्जा राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) को चेक भेंट करते हुए श्री शर्मा जी ने बताया कि   अरुण -3 जलविद्युत परियोजना तथा नैटवार मोरी जलविद्युत परियोजना की निर्माण गतिविधियां पूरी गति में हैं तथा परियोजनाओं के सभी कार्यों पर निर्माण कार्य संबंधी गतिविधियां आरंभ कर दी है।  एसजेवीएन अपनी नई परियोजनाओं को भी निर्माण चरण में लाने में लगातार प्रयत्‍नशील है

श्री शर्मा ने यह भी बताया कि, जल विद्युत एसजेवीएन की मूल शक्ति का आधार है तथा हिमाचल प्रदेश में परियोजनाओं को निष्पादित करने के अलावा; एसजेवीएन नेपाल, भूटान और उत्तराखंड में परियोजनाएं निष्‍पादित कर रहा है। इसके अलावा, एसजेवीएन ने नवीकरणीय ऊर्जा, पावर ट्रांसमिशन और ताप विद्युत के क्षेत्र में प्रवेश किया है।  कंपनी अपनी परिचालन परियोजनाओं से वर्तमान में 1500 मेगावाट नाथपा झाकड़ी जलविद्युत स्टेशन, 412 मेगावाट रामपुर जलविद्युत स्टेशन, 53.2 मेगावॉट खिरवीरे पवन विद्युत स्‍टेशन तथा 5.6 मेगावाट चरंका सौर ऊर्जा स्टेशन से लगभग 2003.2 मेगावाट बिजली उत्पादन कर रही है।
Go to Navigation